क्या बच्चों और औरतों के हमने राक्षसों के साथ रहने को मजबूर कर दिया है ?- HIMANSHU ARORA

कोरोना वाइरस की वजह से आज देश में LOCKDOWN के 22 दिन पुरे हो चुके है l

दोस्तों, जहां सरकार इस महामारी से बचने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है, वहीं सरकार ने लोगो से अपील की है कि वो घरों से बाहर ना निकलें l घर पर ही रहें ताकि वो सुरक्षित रह सकें l

ऐसे में लोगों ने काफी एकजुटता दिखाई है, और घरों से बाहर ना निकल कर एक बहुत अच्छा संदेश दिया है जो बहुत ही सराहनीय है l

इसके उल्ट कुछ shocking नतीजे भी निकल कर आ रहे है, The Hindu अखबार के माध्यम से छपी एक खबर जिसमें यह कहा गया है कि इस lockdown के 10 दिनों के दौरान child abuse and domestic violence सबंधी 92,000 से ज्यादा calls recieve की गईं है l ऐसी खबर बहुत ही दिल देह्लानी वाली है l

क्या बच्चों और औरतों के हमने राक्षसों के साथ रहने को मजबूर कर दिया है ?

मतलब , ऐसे लोग कर क्या रहे है? कैसे माहोल से हम निकल रहे है और कैसी हरकतें ये लोग कर रहे है l लोगो ने इंसानियत और दया तो अपने अंदर से खत्म ही कर दी है l

कल एक विडिओ देख रहा था, उसमें एक औरत एक छोटी सी बच्ची को जो मेरे हिसाब से 4 साल से कम उम्र की होगी, उसको इतनी बेरहमी से मार रही थी कि उस बच्ची ने शायद पहली बार “बचाओ” शब्द का इस्तेमाल किया होगा l वो वीडियो देखने लायक नहीं था l और तो और वीडियो बनाने वाले ने भी कुछ नहीं किया l

दोस्तों, आप सब से हाथ झोड़ कर विनती है कि ये जो परिवार है, यह बना बनाया नहीं मिलता, इसे बनाना पड़ता है और बनाते भी हम खुद ही है, फिर उन्ही परिवार के सदस्यों से इतनी कुरुर्ता क्यूँ की जाती है l छोटे बच्चे गलतीयां करते है, आप ने भी की होंगी, मैंने भी की होंगी लेकिन उनको इस तरह मारना सही बात नहीं है l

महिलाएं सारा दिन घर का काम करती है,बच्चों की देख रेख करती है, कुछ जो नौकरी पेशा महिलाएं है वो balance बना के नौकरी और परिवार चलाती है तो ऐसे में उनको मारना या उनको निंदा करना बिलकुल गलत और असहनीय है l

ये जो आंकड़े सामने आये है यह बहुत ही दिल दहलाने वाले आंकड़े है l

मैं यह भी मानता हूँ कि इनमे कुछ बच्चे और औरतें ऐसी भी होंगी जिन्होंने डर की वजह से inform नहीं किया होगा ताकि कोई सख्त करवाई न हो और बाद में उन्हें दोषी ना ठहराया जाये l  

आप सभी से अनुरोध है कि ऐसी कोई बात अगर आप के आस पास देखने या सुनने को मिले तो कृपया आगे आये और इसे रोके l ऐसे बच्चे और महिलाएं जो इनके शिकार है उन्हें आप की जरूरत है l

जिम्मेवार बने lघर पर रहें, सुरक्षित रहें l  जय हिन्द l

Leave a Reply